अजीनोमोटो क्या है और इसका खाने से क्या नुकसान होता है ?(ajinomoto meaning in hindi)

1
249
ajinomoto kya hai

Ajinomoto salt or msg  का व्यापारिक नाम मोनो सोडियम ग्लूटामेट होता है . शुरुआत में यह Chinese खाद्य-पदार्थ में ही उपयोग किया जाता था लेकिन अब यह हमारे किचन तक पहुँच गया है .हमारे डेली usses प्रोडक्ट जैसे Chinese फ़ूड , मेगी , पिज़्ज़ा , रेडी to eat फ़ूड etc में Ajinomoto salt का प्रयोग स्वाद को बढ़ाने में किया जाता है . आज इस ब्लॉग Ajinomoto meaning in Hindi के माध्यम से इससे सम्बंधित हरेक चीज जानने की कोशिश करेंगे .

ajinomoto meaning in hindi
Ajinomoto meaning in Hindi

अजीनोमोटो क्या है(Ajinomoto meaning in Hindi)?

इसका chemical name एमएसजी (मोनोसोडियम ग्लूटामेट) है .इसका chemical formula C₅H₈NO₄Na होता है .इसका उपयोग प्रायः भोजन को स्वादिष्ट बनाने में किया जाता है . इसको 1909 में जापानी जैव रसायनज्ञ किकुनाए इकेडा द्वारा खोजा गया  .पहली बार जापानी कंपनी ने ही बताया था कि एमएसजी को अजीनोमोटो कहा जाता है, जिसका अर्थ होता है ‘एसंस ऑफ टेस्ट‘ (स्वाद का सार) . शुरुआत में जापानी शूप में इसका प्रयोग स्वाद को बढ़ाने में किया जाता था उसके बाद Chinese food में इसका इस्तेमाल होने लगा . इसमें प्राकृतिक रूप से एमिनो एसिड पाया जाता है और इसका स्वाद नमक से मिलता-जुलता है .देखने में यह चमकीले छोटे क्रिस्टल के जैसा होता है जो बाजार में आसानी से उपलब्ध है . आपको जानकर हैरानी होगी की यह टमाटर, चीज़, सोयबीन और सूखे मशरूम में प्रचूर मात्रा में पाया जाता है.

अजीनोमोटो का उपयोग (uses of Ajinomoto)

  • चायनीज़ खाने को स्वादिष्ट बनाने के लिए अजीनोमोटो का प्रयोग किया जाता है .
  • आज कल अजीनोमोटो पिज़्ज़ा ,बर्गर और अन्य फ़ास्ट फ़ूड में किया जाता है .
  • जापानीज सूप और Chinese सूप में इसका उपयोग होता है .
  • डब्बा बंद फ़ूड आइटम में भी अजीनोमोटो का प्रयोग किया जाता है .
  • इसका इस्तेमाल सब्जियों के मसाले में भी किया जाता है.

ajinomoto use in maggi

अजीनोमोटो के लाभ (Advantages of Ajinomoto)

  • कुछ खाद्य पदार्थो में प्राकृतिक रूप से ग्लूटामेट प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जैसे टमाटर, समुद्री मछलियों, पनीर और मशरूम जिसके कारण अजीनोमोटो का इसमें अलग से उपयोग करने की आवश्यकता नही परती है .
  • अगर कोई व्यक्ति स्वस्थ है तो इसे खाने से कोई समस्या नही होती है यू. एस. फ़ूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने एमएसजी के सेवन को सामान्य रूप से सुरक्षित माना है मगर यह controversial है 
  • यह स्वाद को कई गुना बढ़ा देती है जिसके कारण आज कल इसका उपयोग बढ़ा है

अजीनोमोटो के नुकसान (Disadvantages of Ajinomoto)

एमएसजी का खोज जापान में हुआ और इसका उपयोग चीन(Chinese food)में सबसे जायदा होने लगा लेकिन अभी इसका उपयोग लगभग सभी देशो में होने लगा है . हम अपने busy लाइफ में ready तो eat फ़ूड का उपयोग करने लगे है जिसमे बहुतायत मात्रा में अजीनोमोटो का प्रयोग किया जाता है जो हमारे शरीर को नुकसान पहुँचाता है . Ajinomoto काफी harmful होता है यह धीरे धीरे हमारे शरीर को नुकसान पहुचता है .अजीनोमोटो से होने वाले नुकसान नीचे दिए गए है

  • एमएसजी के उपयोग से दृष्टि कमज़ोर हो सकता है।
  • ठंड लगने और कम्पन्न जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  • अजीनोमोटो ह्रदय चाप में वृद्धि ला सकता है।
  • सिर दर्द / माइग्रेन की तकलीफ हो सकती है।
  • एमएसजी (मोनोसोडियम ग्लूटामेट) का सेवन करने से सांस लेने में दिक्कत हो सकती है।
  • चक्कर आना और उलटी आने की समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  • छाती, कमर और गर्दन में दर्द की शिकायत भी हो सकती है।
  • Ajinomoto during pregnancy उपयोग नही करना चाहिए वर्ना यह घातक साबित हो सकती है

अजीनोमोटो के इस्तेमाल से होने वाले रोग (Ajinomoto harmful side effects) .

बाँझपन – डॉक्टरो के अनुसार गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए, क्योकि ये माता और बच्चे के बीच भोजन आपूर्ति में बाधक बन सकता है. साथ ही यह मस्तिष्क के neurons पर भी बुरा असर डालता है यह शरीर में सोडियम की मात्रा को बहुत बढ़ा देता है जिसकी वजह से रक्तचाप बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है. साथ ही पैरों में सूजन जैसी समस्या उत्पन्न हो जाती है.

माइग्रेन – एमएसजी से युक्त खाद्य पदार्थो का अगर नियमित सेवन किया जाये तो यह माइग्रेन पैदा कर सकता है जिसको हम अधकपाली भी कहते है. इस बीमारी में आधे सिर में हल्का हल्का दर्द होते रहता है यह रोग किसी भी उम्र के व्यक्ति में हो सकता है .

सीने में दर्दएमएसजी का लगातार उपयोग करने से सीने में दर्द, धड़कन का बढ़ जाना और ह्रदय की मांसपेशियों में खिचाव होने जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है.

तंत्रिका तंत्र पर प्रभाव – अजीनोमोटो तंत्रिका को प्रेरित कर उसमे असंतुलन पैदा कर देती है इसके परिणाम स्वरुप गर्दन में अकडन या खिचाव के साथ शरीर में झुनझुनी पैदा होने लगती है. इसके सेवन से अल्झाइमर, हन्तिन्ग्तिओन और पार्किन्सन, मल्टीप्ल स्क्लेरोसिस की लक्षण पैदा होने लगते है. अजीनोमोटो एक नयूरोत्रन्स्मित्टर है जो अनिंद्रा जैसे विकारों के भी लक्षण पैदा कर सकते है.

मोटापा बढ़ना – एमएसजी के सेवन से मोटापे  बढ़ने का खतरा हमेशा बना रहता है हमारे शरीर में मौजूद लेप्टिन हॉर्मोन, हमे भोजन के अधिक सेवन को रोकने के लिए हमारे मस्तिष्क को संकेत देते है. अजीनोमोटो के सेवन से ये प्रभावित हो सकता है और हमें पहले की अपेक्षा जादा भूख लगने  लगता है जिस वजह से हम ज्यादा भोजन कर जल्द ही मोटापे से ग्रस्त हो सकते है. Ajinomoto India में भी उपयोग तेजी से होने लगा है .

बच्चो के लिए हानिकारक : अजीनोमोटो युक्त खाद्य पदार्थो को बच्चों को बिल्कुल भी नहीं देना चाहिए जैसे मेग्गी बच्चो को ज्यादा पसंद होता है और वह बार बार खाने का जिद करता है एमएसजी का प्रभाव प्रत्येक व्यक्ति पर अलग अलग होता है अगर किसी भी व्यक्ति को इसको खाने के बाद इस तरह के कोई भी लक्षण न दिखे, तो उनके लिए इसका सेवन सुरक्षित है और वो इससे बने खाद्य पदार्थों का सेवन कर सकते है हलांकि इसका प्रभाव धीरे धीरे परता है जिसके कारण एमएसजी को धीमी जहर भी कहा जाता है .

what is the chemical name Ajinomoto?

Ajinomoto  का केमिकल नाम मोनोसोडियम ग्लूटामेट होता है इसका chemical formula C₅H₈NO₄Na होता है . Ajinomoto price में सस्ता होता है और यह बाजार में हर जगह उपलब्ध है .Ajinomoto taste में नमकीन होता है . Ajinomoto salt के जैसा दीखता है .MSG का full form मोनोसोडियम ग्लूटामेट होता है .

ajinomoto chamical formula

⇒जाने सुकन्या समृद्धि योजना क्या है ?

What is The Full Form Of GOOGLE ?

आज आपने क्या सिखा .

एमएसजी अथवा Ajinomoto का ज्यादा उपयोग स्वास्थ्य के लिए हानी कारक हो सकता है इसीलिए इसका उपयोग कम से कम मात्रा में करे . Chinese फ़ूड का सेवन या अन्य fast फ़ूड का सेवन न करे Ajinomoto meaning in Hindi के माध्यम से एमएसजी से होने वाले नुकसान एवं लाभ विस्तार से बताया गया है इसे पढने के बाद एमएसजी के बारे में आप सब कुछ जन ही गये होंगे अगर एमएसजी से सम्बंधित कोई भी मन में सवाल है तो आप कमेंट में पूछ सकते है आपके सवाल का हमें इन्तिजार रहेगा .

 

 

 

 

 

 

 

1 COMMENT

Comments are closed.