दोस्तों नमस्कार guidehindime.com में आपका स्वागत है . आज के आधुनिक युग में computer के बारे में कौन नहीं जानता फिर भी computer in Hindi blogसे जानने की कोशिश करेंगे की कंप्यूटर क्या है ? यह कितने टाइप के होते है ? एवं computer से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी आपको जानने को मिलेगा सबसे पहले तो आपके मन में एक सवाल उठ रहा होगा की कंप्यूटर क्या है. और यह कैसे चलता है . वैसे तो आसन भाषा में कहे तो computer एक गणना करने वाली मशीन है. जो हमारे कामों को आसान बनाती है आज हमारे जीवन की इसके बिना कल्पना नही की जा सकती. यह हमारे कामों को सरल बनाती है,मगर यह इतना सरल है नहीं . इसको बनाने के पीछे बहुत सारे scientist के सालो का मेहनत है ! तब जाकर यह हमारे बीच आया तो दोस्तों आइए जानने की कोशिस करते है . सम्पूर्ण जानकारी computer in Hindi full form ऑफ़ कंप्यूटर .

COMPUTER IN HINDI

कंप्यूटर क्या हैं(what is Computer in Hindi)?

कंप्यूटर लैटिन शब्द computare से बना है जिसका अर्थ होता है ! संगणक आज का युग compuer का युग है आज कल जीवन के परत्येक क्षेत्र में इसका बिशेष समावेश है . computer वह इलेक्ट्रोनिक यन्त्र है ,जिसका पुराने समय में केवल Calculation करने के लिये किया जाता था .परन्तु आधुनिक युग में इसका उपयोग डाक्‍यूमेन्‍ट बनाने, ईमेल audio and video, game खेलने , database बनाने ,इंजीनियरिंग और कई कामों में किया जा रहा है! जैसे बैकों में, स्कूल ,कॉलेज में, कार्यालयों में, घरों में, दुकानों में, Computer का उपयोग बृहद रूप से किया जा रहा है .

इसमें मुख्त्या २ पार्ट होते है (1) हार्डवेयर (2)सोफ्टवेयर

(1) हार्डवेयर -जो computer का पार्ट हमें दीखता है वह हार्डवेयर है जैसे – मोनिटर , Cpu , Mause ,कीबोर्ड,hard-drive etc

(2)सोफ्टवेयर-computer का वह पार्ट जिसे हम नही देख सकते यह एक instruction program (code )है जिसके दिशा निर्देश पर यह चलता है

computer कैसे काम करता है . 

कंप्यूटर में  मुख्यतः तीन प्रकार के काम होते हैं पहला डाटा  का लेना इसे इनपुट कहते हैं दूसरा उस लिए गए डाटा को processed करना और सबसे अंत में हमारे सामने दिखाना जिसे  output कहते हैं! जब हम कोई डाटा कंप्यूटर इनपुट device से enter करते हैं उसके बाद कंप्यूटर के processing यूनिट में में चला जाता है अंत में हमें output के तौर पर मॉनिटर पर  दिखाता है! 

Input data  →processing →output data

क्या आपको पता है computer का अविष्कार किसने किया चलिए हम आपको बताते है इसका अविष्कार Charles Babbage ने 1833-1873 में किया जिसे father of computer भी कहा जाता है . पहले Computer का साइज़ हमारे कमरे के साइज़ से जादा बड़ा था जिसे first generation of computer भी कहते है यह एक Mechanical computer था . जबसे ट्रांसिस्टर का अविष्कार हुआ दुनिया में computer क्रांति  आ गयी तभी computer इतना छोटा संभव हो पाया आज computer इतना छोटा हो गया जिसे हम अपने पॉकेट(mobile) में रख सकते है .

full form of computer(कंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या है)

वैसे तो इसका कोई full form नही है लेकिन computer का एक काल्पनिक full form है .

C-commonly

O-oriented

M-machine

P-particularly

U-used for

T-teaching and

E-educational

R-research

computer ka aviskar kisne kiya tha?

लेख में उपर बताया गया है कंप्यूटर का अविष्कार Charles babbage ने  किया जिसे father of computer भी कहा जाता है जो की एक  mathematician, philosopher, inventor and mechanical engineer थे .

computer ka aviskar kab hua ?

इसका अविष्कार 1833-1873 में हुआ जब चार्ल्स बेबेज ने पहला steam-powered Mechanical calculator बनाया जिसे उन्होंने difference engine नाम दिया .

Generation of computer in Hindi .

 जैसा कि आपको पता है कंप्यूटर का आविष्कार 1835 ईस्वी में चार्ल्स बैबेज द्वारा किया गया उसके बाद कंप्यूटर का डेवलपमेंट किया गया इसका डेवलपमेंट मुख्यतः 5 चरणों में बांटा गया है .या हम यह कह सकते हैं कि कंप्यूटर का विकास पांच पीढ़ी में किया गया तो आइए दोस्तों हम कंप्यूटर की अलग-अलग पीढ़ी के बारे में विस्तार से जानते हैं.

 first generation of computer(1940-1956)

Second generation of computer(1956-1963)

Third generation of computer(1964-1971)

Fourth generation of computer(1971-1980)

Fifth generation of computer(वर्तमान और भविष्य)

first generation of computer(1940-1956)-

कंप्यूटर की पहली पीढ़ी में वैक्यूम ट्यूब का प्रयोग किया गया था . जिसमें गैस को निकालकर  इसे vacuum बनाया गया था  . वैक्यूम ट्यूब में इलेक्ट्रॉन प्रवाह को नियंत्रित करने के लिए इलेक्ट्रॉन होते हैं ! First generation computer आकार में बहुत बड़े और भारी भरकम होते थे जिस के रखरखाव में एक बड़े स्थान   की आवश्यकता होती थी और वह बहुत जादा गर्मी का उत्सर्जन करते थे .

इसलिए कंप्यूटर के उचित काम के लिए AC का प्रयोग किया जाता  था हाइड्रोजन बम के बनाने  के दौरान कठिन गणना करने हेतु द्वितीय विश्व युद्ध में अमेरिका द्वारा  पहला बार प्रयोग किया गया था. बाद में इसका प्रयोग मौसम के  पूर्वानुमान लगाने में अंतरिक्ष अनुसंधान में MATHEMATICS CALCULATION  को हल करने में और वैज्ञानिक कार्यों के लिए किया जाता था लेकिन speed बहुत ही कम होने के कारण इसका प्रयोग बंद कर दिया गया .

ENIC के बाद , John Presper Eckert और john William Mauchly  ने वर्ष 1946 में (EDVAC)का आविष्कार किया था ! EDVIC  में प्रोग्राम के साथ-साथ चल रहे डाटा भी MEMORY में संग्रहित होते थे तथा इसमें डाटा और निर्देशों दोनों  तेज गति से प्रोसेस हो रहे थे सन् 1952 में ekert तथा Mauchly  ने पहला UNIVAC (यूनिवर्सल ऑटोमेटिक कंप्यूटर ) विकसित किया इस पीढ़ी के कंप्यूटर में इंटरनल मेमोरी के रूप में मैग्नेटिक ड्रम का प्रयोग किया जाता था ! इस जनरेशन में programming मशीन और  असेंबली लैंग्वेज में की जाती थी मशीन 0 और 1 की भाषा समझता है ! इस प्रकार first generation computer का अंत हुआ !

Second generation of computer(1956-1963)-

computer के दूसरी पीढ़ी में transistor का अविष्कार हो चूका था और यह Vacuum tube का जगह ले लिया . Transistor आकर में बहुत छोटे होने के कारन यह बहुत कम जगह लेता था !  vacuum tube की तुलना में जादा fast और सस्ते थे यह कम एनर्जी का पर्योग करता था आकर कम होने तथा एनर्जी efficient होने के कारन कम heat produce होता था इस generation में COLBOL और FORTRAN का प्रयोग किया गया  !

Third generation of computer(1964-1971)-

ट्रांजिस्टर बन जाने के कारण इंटीग्रेटेड सर्किट बनाना संभव हुआ इसके बाद कंप्यूटर युग में जैसे की क्रांति ही आ गई हो कंप्यूटर के थर्ड जेनरेशन को इंटीग्रेटेड सर्किट जेनरेशन भी कहा जाता है ! IC में ट्रांजिस्टर को छोटे-छोटे कर सिलीकान चिप के अंदर प्रयोग किया  जाता था जिसे semiconductor कहा जाता है! इससे यह फायदा हुआ कि कंप्यूटर की प्रोसेसिंग क्षमता काफी हद तक पहले से बढ़ गई पहली बार इस जनरेशन के कंप्यूटर को पहले से ज्यादा यूजर फ्रेंडली बनाने के लिए मॉनिटर कीबोर्ड और ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग किया गया इसे पहली बार मार्केट में लांच किया गया था.

Fourth generation of computer(1971-1980)

कंप्यूटर की चौथी पीढ़ी में microprocessor का इस्तेमाल किया गया जिसमें हजारों इंटीग्रेटेड सर्किट एक ही सिलीकान चिप में इस्तेमाल  किया गया ! इसे मशीन के आकार को कम करने में बहुत सहायता मिली माइक्रोप्रोसेसर के इस्तेमाल से कंप्यूटर की efficiency और भी ज्यादा बढ़ गई और यह बहुत ही कम समय में बड़े बड़े कैलकुलेशन को आसानी से हल कर पा रहा था .

Fifth generation of computer(वर्तमान और भविष्य)

कंप्यूटर के पंच मी  पीढ़ी को आज के जेनरेशन का कंप्यूटर कहा जाता है है इसमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का प्रयोग किया जाता है ! अब नई नई टेक्नोलॉजी जैसे speech Recognigation parallel प्रोसेसिंग  , क्वांटम कैलकुलेशन जैसे कई एडवांस technology  इस्तेमाल में आने लगे हैं ! यह एक ऐसा जेनरेशन है जहां कंप्यूटर की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस होने के कारण खुद डिसीजन लेने की क्षमता विकसित हो चुकी है और धीरे-धीरे इसमें ऑटोमेटिक काम होने लगे हैं ! आपने computer in Hindi के माध्यम से computer का इतिहास जाना इस blog के साथ बने रहे आगे आपको बहुत कुछ जानने को मिलेगा .

 


1 Comment

what is artificial intelligence in Hindi 2020 |artificial intelligence definition · May 28, 2020 at 2:14 pm

[…] के द्वारा एक ऐसे Computer controlled robot या Software बनाने की योजना है, जो वैसे […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *